ISSN 2277 260X   

 

International Journal of

Higher Education and Research


 

 

Friday, 20. July 2018 - 12:45 Uhr

अवनीश सिंह चौहान को दिनेश सिंह स्मृति सम्मान


abnish2-2लालगंज (रायबरेली): रविवार: 15 जुलाई 2018: बैसवारा इंटर कालेज के सभागार में कव्यालोक साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्था ने​ ​​'डॉ  शिवबहादुर सिंह भदौरिया की जयंती सम्मान समारोह'​ ​का भव्य आयोजन किया, जिसमें ​युवा नवगीतकार, आलोचक एवं सम्पादक डॉ अवनीश सिंह चौहान को स्मृतिपत्र​ ​समेत अंगवस्त्र एवं मोमेंटो देक
​र​ 'दिनेश सिंह स्मृति सम्मान'​ ​से अलंकृत किया गया। यह सम्मान सुप्रतिष्ठित नवगीतकार, आलोचक एवं सम्पादक स्व दिनेश सिंह की स्मृति में प्रति वर्ष एक नवगीतकार को दिया जाता है।
 
पेशे से प्राध्यापक (अंग्रेजी)
​एवं ​
बहुआयामी रचनाकार डॉ अवनीश सिंह चौहान चौहान के नवगीत 'शब्दायन', 'गीत वसुधा', 'सहयात्री समय के', 'समकालीन गीत कोश', 'नयी सदी के गीत', 'गीत प्रसंग' आदि समवेत संकलनों में संकलित हो चुके हैं, जबकि आपकी तमाम रचनाएँ देश-विदेश के पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी हैं। आपके द्वारा सृजित आधा दर्जन से अधिक अंग्रेजी भाषा की पुस्तकें कई विश्वविद्यालयों में पिछले 14 वर्षों से पढ़ी-पढाई जा रही हैं। हिन्दी भाषा में 2013 में प्रकाशित आपका गीत संग्रह 'टुकड़ा कागज़ का' काफी चर्चित हो चुका है। आपने 'बुद्धिनाथ मिश्र की रचनाधर्मिता' पुस्तक का संपादन किया है। आप वेब पत्रिका 'पूर्वाभास' और 'क्रिएशन एवं क्रिटिसिज़्म' (अँग्रेज़ी) के सम्पादक हैं। आपको 'अंतर्राष्ट्रीय कविता कोश सम्मान', मिशीगन- अमेरिका से 'बुक ऑफ़ द ईयर अवार्ड', राष्ट्रीय समाचार पत्र 'राजस्थान पत्रिका' का 'सृजनात्मक साहित्य पुरस्कार', अभिव्यक्ति विश्वम् (अभिव्यक्ति एवं अनुभूति वेब पत्रिकाएं) का 'नवांकुर पुरस्कार', उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान-लखनऊ का 'हरिवंशराय बच्चन युवा गीतकार सम्मान' आदि से अलंकृत किया जा चुका है।

कार्यक्रम में मौजूद श्रद्धेय स्वामी भाष्करस्वरूप जी महाराज, संस्था के अध्यक्ष प्रतिष्ठित शिक्षाविद डॉ महादेव सिंह, संस्था के महामंत्री
​चर्चित साहित्यकार डॉ विनय भदौरिया आदि ने सुप्रसिद्ध नवगीतकार डॉ शिव बहादुर सिंह भदौरिया जी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला और उनकी पावन स्मृतियों को श्रद्धापूर्वक नमन किया। वरिष्ठ लेखक-पत्रकार श्री नरेंद्र भदौरिया ने कहा कि स्व भदौरिया जी का साहित्यिक अवदान श्लाघनीय है; शायद तभी उनके गीत सुनकर आज भी ऐसा लगता है जैसे कोई हमारे दिल की बात कह रहा हो। प्रधानाचार्य रामप्रताप सिंह ने कहा कि डॉ भदौरिया की कविताओं में आक्रोश भी बड़े सहज ढंग से प्रस्तुत हुआ है; यह  कविताओं के माध्यम से उनके कहने का सलीका और साहस ही था कि उन्होंने लिखा कि 'ना काबिल पैताने के, बैठे हैं सिरहाने लोग। डॉ अवनीश सिंह चौहान ने जाने-माने नवगीतकार एवं नये-पुराने पत्रिका के यशस्वी संपादक स्व दिनेश सिंह​ ​से​ ​जुड़े​ ​कुछ रोचक संस्मरणों को श्रोताओं के समक्ष प्रस्तुत करते हुए कहा कि श्रद्धेय डॉ शिव बहादुर सिंह भदौरिया जी दिनेश सिंह जी के गुरुदेव रहे हैं और इस नाते वह मेरे दादा गुरु हुए।​ ​
 
इस पावन अवसर पर देशभर से पधारे अन्य साहित्यकार- श्रद्धेय श्री ओमप्रकाश अवस्थी, श्री नचिकेता, श्री रामनारायण रमण, श्री देवेन्द्र पाण्डेय देवन, श्री हरिनाम सिंह, श्री शीलेंद्र कुमार सिंह चौहान, श्री विनोद श्रीवास्तव एवं श्री सतीश कुमार सिंह को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में सर्वश्री इंद्रेश सिंह भदौरिया, रमाकांत, राजेश सिंह फौजी, डॉ निरंजन राय, मनोज पांडेय, विश्वास बहादुर सिंह, चंद्रप्रकाश पांडेय, वासुदेव सिंह गौढ़ आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। कार्यक्रम का बेहतरीन संचालन शिक्षक नेता आशीष सिंह सेंगर ने किया और शिक्षाविद डॉ महादेव सिंह ने आभार व्यक्त किया।
award-latest-1
r2
​​r3
r4
me-1
news

 


Tags: NEWS SRM University  Hindi News Hindi Literature Hindi Lyrics Hindi Abnish Singh Chauhan Dr Abnish Singh अवनीश सिंह चौहान डॉ अवनीश सिंह चौहान 

23 Views

0 Comments

Tuesday, 10. April 2018 - 11:48 Uhr

अवनीश सिंह चौहान के एसोसियट प्रोफेसर न बनने पर खेद - डॉ पूर्णमल गौड़


डॉ अवनीश सिंह चौहान को डॉ पूर्णमल गौड़ की चिठ्ठी 


ab-singh---copy-1प्रिय अवनीश जी,
आप जैसे योग्य, सुशिक्षित, अनुभवी, उत्कृष्ट लेखक, शोधकर्मी, आदर्श शिक्षक, विश्वविद्यालय के गौरव को  बढाने में सदैव तत्पर, बेहद ईमानदार, छात्र हितैषी, बहुआयामी व्यक्तित्व, राष्ट्रीय-अन्तर्राष्ट्रीय सेमीनारों में सहभागिता व अध्यक्षता करने वाले प्राध्यापक को पदोन्नत कर एसोसियट प्रोफेसर बहुत पहले बना देना चाहिए था; अब तक नहीं बनाये जाने के लिए खेद है। मेरी अनन्त मंगल कामनाएं।

आपका,
डॉ पूर्णमल गौड़
सलाहकार, पंडित दीनदयाल उपाध्याय एवं डॉ मंगलसेन चेयर्स
महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय, रोहतक, हरियाणा

(डॉ पूर्णमल गौड़ महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय एवं एसआरएम विश्वविद्यालय, सोनीपत में हिन्दी विभागाध्यक्ष रह चुके हैं )

Tags: SRM University  Literature Festival, Authors, Media, Cinema, Actors Dr Abnish Singh Chauhan Abnish Singh Chauhan Dr Abnish Singh SRM University, Delhi-NCR, Sonepat, Haryana 

440 Views

2 Comments

Friday, 15. December 2017 - 16:39 Uhr

REFLECTION - A University Newsletter


It's a matter of light and delight that REFLECTION (Jan-Nov 2017), a university newsletter, has been published in print and can also be viewed on the university website. 
 
I am highly grateful to Dr T R Paari Vendhar, Hon'ble Founder Chancellor and Mr Ravi Pachamoothoo, Hon'ble Chancellor for love and blessings. Also thankful to Dr P Prakash, Hon'ble VC and Dr Manish Bhalla, Registrar, SRM University, Delhi-NCR, Sonepat, Haryana for entrusting me the task of editing this newsletter. My sincere thanks to my friends and well-wishers for cooperation and motivation.
 
u-letter-cover
- Dr Abnish Singh Chauhan
  Editor: REFLECTION


Tags: University Newsletter SRM University, Delhi-NCR, Sonepat, Haryana SRM University REFLECTION 

645 Views

0 Comments

Thursday, 9. November 2017 - 12:10 Uhr

A Signature Workshop by GOPTA


gopta-1

 

Honoured to have been invited to a signature workshop on 'How To Add 50000 Productive Hours To Your Life' organized by GOPTA at India International Center, New Delhi on Aug 20, 2017. The workshop was highly successful and profoundly memorable due to the captivating and motivational discourses of my dear friend Mr Sanjay Kumar Agarwal, the rising star of modern India. Thankful to Sanjay Ji, dear Prakhar, energetic Lalima and benign Sanjay Sharan Sir (IRS) for their wonderful company. - Abnish Singh Chauhan


gopta3

Remarks:

 

Thanks, Abnish Sir. It was my pleasure and privilege to have your gracious presence in my workshop. All of the participants benefitted from your thoughts and lively stories from your vast reservoir of experience and learning. Hope to see you again, sir, in my next workshop titled, 'Success Unlimited- Unlock Your True Potential' at India International Center, New Delhi on Nov 19, 2017.

 

- Sanjay Kumar Agarwal, Chairman & CEO, GOPTA Success Pvt. Ltd.

 

Dear Dr Chauhan, congratulations for remarkable invitations from VIPs for active and contributive participation in excellent programs. There are a few persons like you who are invited for chairing university, state, national and international level conferences, workshops and seminars. Keep it up.

 

- Dr P M Gaur, Professor & Head, Department of Hindi, SRMU, Delhi-NCR, Sonepat​


 


Tags: Workshop SRM University  GOPTA Sanjay Kumar Agarwal Dr P M Gaur Dr Abnish Singh Chauhan Dr Abnish Singh Abnish Singh Chauhan 

682 Views

0 Comments